<br />

 

Source : MainAd
Tuesday, June 27, 2017 9:02AM IST (3:32AM GMT)
 
मेनऐड ने मशीन लर्निंग के जरिए बृहत्तर ऐड रीटारगेटिंग की पेशकश के लिए लॉजिको पेश किया
 
Bangalore, Karnataka, India
एडवर्टाइजिंग टेक्नालॉजी कंपनी मेनऐड (MainAd), जो डिसप्ले और ऐड कैमपेन की रीटारगेट करने में सुविज्ञ है, ने आज अपनी प्रमुख स्वामित्ववाली टेक्नालॉजी ‘लॉजिको’ पेश की। यह मशीन लर्निंग के उपयोग से ब्रांड के बीस्पोक प्रोग्रामैटिक कैमपेन के लाभ का विस्तार करेगा।

मेनऐड का लॉजिको डॉटा आधारित व्यवहारों का मेल मशीन लर्निंग मॉडल्स से कराता है ताकि प्रीडिक्टव एनालिटिक्स डिलीवर किया जा सके। शैली निर्धारित करने और ग्राहक के व्यवहार का अनुमान लगाने के लिए डाटासेट से सूचना निकालकर यह टेक्नालॉजी बेहतर प्रदर्शन कुशलता की पेशकश करेगी। अब विज्ञापनों को लक्ष्य करना दर्शकों के विस्तृत समूहों पर आधारित नहीं होता है। ब्रांड अब वास्तविक समय में डाटा प्रोसेस कर सकते हैं और बिडिंग प्रोटोकोल को प्रभावित कर सकते हैं तथा इस समझदारी का उपयोग व्यक्तियों से जुड़ने के लिए कर सकते हैं।    

लॉजिको का बिडर एलीमेंट गूगल के ओपन बिडर एपीआई (बीटा) पर बना हुआ है और यह गूगल कंप्यूट इंजन का उपयोग करता है। इससे मेनऐड को कस्टम और रीयल टाइम बिडिंग (आरटीबी) सोल्यूशंस बनाने में सहायता मिलती है जो प्रत्येक ग्राहक की आवश्यकता पर निर्भर होगा।  

मेनऐड के सीओओ और सह संस्थापक पिरो पवोन कहते हैं, “मेनऐड ब्रांड्स के लिए सर्वश्रेष्ठ मुहैया कराने के लिए प्रतिबद्ध है और लॉजिको की पेशकश से हम कृत्रिम बद्धिमत्ता (एआई) की बारीकी को प्रोग्रामैटिक एडवर्टाइजिंग में ला सकते हैं। डाटा आधारित निर्णय लेने में जानकारी लागू की जा सकती है।” उन्होंने आगे कहा, किसी भी कारोबार के केंद्र में डाटा है और इसका उपयोग करने की हमारी योग्यता तथा इसके लिए मशीन लर्निंग क्षमता का उपयोग सफल ऐड कैमपेन बनाने के लिए एक मजबूत बुनियाद मुहैया कराएगा।”

पवोन आगे कहते हैं, “प्रोग्रामैटिक ने शायद अनुचित रूप से खुद को विज्ञापन उद्योग से जुड़े हाल के मुद्दों के केंद्र में पाया है। इसका मुकाबला करने के लिए हमें ग्राहकों का सशक्तिकरण करना चाहिए कि वे ऐड डिलीवरी पर खासतौर से तैयार किया गया एप्रोच लें और बारीक निर्णय बड़े आंकड़ों के आधार पर पीटाबाइट पैमाने पर लें। मेनऐड में हम कैमपेन मैनेजमेंट के प्रति अपने खास अभियान पर गर्व करते हैं। और लॉजिको की पेशकश से हमारी पेशकश मजबूत होती है।”

मेनऐड के लॉजिको के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए कृपया : www.mainad.com/technology पर आइए।

खत्म

मेनऐड के बारे में

मेनऐड एक एडवर्टाइजिंग टेक्नालॉजी कंपनी है जो विज्ञापन अभियान के सार्वभौमिक प्रदर्शन और रीटारगेटिंग में सुविज्ञ है। कंपनी की प्रमुख स्वामित्व वाली टेक्नालॉजी ‘लॉजिको’, मशीन लर्निंग का उपयोग करती है ताकि ब्रांड्स के लिए खासतौर से तैयार किए गए प्रोग्रामैटिक अभियान के लाभ का विस्तार किया जा सके और जब इसका मेल कैमपेन मैनेजमेंट के प्रति टीम के खासतौर से तैयार किए गए रुख से कराया जाए तो बेहतर प्रदर्शन हासिल होता है। अपनी डाटा आधारित सुविज्ञता का उपयोग करते हुए मेनऐड विज्ञापनों के प्रदर्शन की गुना बढ़ा देता है जबकि पारदर्शी और वाजिब नतीजे देता है।

मेनऐड की स्थापना 2007 में हुई थी और यह निजी स्वामित्व वाली कंपनी है जो 80 बाजारों में अंतरराष्ट्रीय ब्रांड के लिए सेवा मुहैया कराती है। इसके कार्यालाय पेसकारा, मिलान, लंदन, इस्तानबुल सैनटियागो डी चिले, मनीला, त्रिवेन्द्रम और बंगलौर में हैं। कंपनी आईएबी यूके के साथ-साथ आईएबी इटली की सदस्य है जहां मेनऐड के सीएसओ मिशेल मार्जन निदेशक मंडल में हैं। ज्य़ादा जानकारी के लिए कृपया www.mainad.com पर आइए।

मेनऐड मानवीय और सामाजिक उद्देश्यों उद्देश्यों के समर्थन के लिए प्रतिबद्ध है। कंपनी मोजांबिक और भारत में प्रोजेक्ट्स के लिए सक्रियता से सहायता मुहैया कराती है और यह चुनी हुई लोकोपकारी संस्था टेरे डेस होम्मस के जरिए होता है   और अक्सर स्थानीय स्तर पर उद्यमिता वाले आयोजन का मेनऐड के मुख्यालय में समर्थन करता है जो पेसकारा इटली में है।

स्रोत रूपांतर businesswire.com पर देखें : http://www.businesswire.com/cgi-bin/mmg.cgi?eid=51578302&lang=en

 
संपर्क :
मीडिया कांटैक्ट पर मेनऐड
जिन्जरमेपीआर (GingerMay PR)
लीन्ने फिनिकास, +44 (0)203 642 1124
Leanne.phinikas@gingermaypr.com

 
 

To ensure that you continue to receive email from Business Wire India in your inbox, please add businesswireindia.com to your Address Book or Safe List.

 
To submit a press release, click here.
To unsubscribe or modify your Business Wire India settings, please visit your profile page on Business Wire India.

Connect with us on: Facebook | Twitter | Google+